अनूठा है देश की आजादी का यह 75वां साल—————————————

( फतेहपुर )_कोरोना की दूसरी लहर में मुश्किलें झेलने और टोक्यो में स्वर्णिम जीत पर पूरे देश के झूमने के बाद इस 15 अगस्त को हम अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। कुछ चुनौतियां हमने आपसी समरसता और एकजुटता से सामना करके पीछे धकेलीं हैं तो कुछ चुनौतियों का अभी भी इसी सद्भाव के साथ मुकाबला करने के लिए तैयार रहना होगा। स्वतंत्रता दिवस के 75 वर्षों को इस बार भारत सरकार ने अमृत महोत्सव के जरिए इतिहास की उन सभी कड़ियों को जोड़ने की शुरुआत की है, जो अब तक अंधेरे में रही हैं। दरअसल, अंग्रेजों के दमन से देश आजाद कराने में इन सपूतों ने अपना सबकुछ बलिदान कर दिया था। 15 अगस्त 1947 के दिन ब्रिटिश शासन के 200 वर्षों के राजकाज से आजादी मिली थी। हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के त्याग और बलिदान की भी याद दिलाता है ये दिन।

बेशक, हम स्वतंत्रता मिलने के 75वें साल में हम प्रवेश कर रहे हों, लेकिन देश के लिए आज भी कई चुनौतियां बनी हुई हैं। सबसे पहले तो भारत की एकता और अखंडता को चुनौती देने वाली वे शक्तियां जो पड़ोसी देश पाकिस्तान से हमें कई बरसों से मिल रही हैं और अब चीन भी बोर्डर पर खुराफातें कर रहा है, लेकिन भारतीय सेना के मजबूत इरादों को भांपने के बाद इनके मंसूबे बार—बार धरे रह जा रहे हैं। आज का भारत आगे बढ़ रहा है और विश्व में विकास के जरिए अपनी नई पहचान के साथ नए आयाम तय कर रहा है। हालांकि कोरोना ने विकास की गति को धीमा करने का काम किया है, लेकिन टोक्यो ओलंपिक में जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा, वेटलिफ्टर चानू, पीवी सिंधू के साथ—साथ हमारे अन्य खिलाड़ियों ने पूरे देशवासियों को बड़ा संदेश भी दिया है कि अगर आप ईमानदारी से मेहनत और मैदान में जुटे रहते हैं तो आपको सारा जहां भी अवश्य मिलेगा। अब भारतवासियों को इस संदेश से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ना है।

स्वतंत्रता दिवस केवल एक दिन विशेष नहीं अपितु भारत के उन असंख्य स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति हमारे सम्मान को प्रदर्शित करने का जरिया भी है जिन्होंने देश को आजाद कराने के लिए अपना सर्वस्व त्याग दिया था। ये दिन राष्ट्र के प्रति अपनी एकजुटता और निष्ठा दिखने का दिन है। साथ ही युवा पीढ़ी को राष्ट्र की सेवा के लिए प्रेरित करता है। देश के प्रति अपने कर्तव्यों को समझने और देशभक्ति का महत्व समझने के लिए ये स्वतंत्रता दिवस हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सभी देशवासियों को ऑल इण्डिया मीडिया एसोसिएशन की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं_

Thakur Diwakar Singh
All India media association [ #AIMA_MEDIA ]
Fatehpur Uttar Pradesh

http://www.aimamedia.org/

सभी देश वासियों को गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं

सबसे पहले देश के सभी गुरुजनों को सादर प्रणाम

जय गुरुदेव अमल अविनाशी, ज्ञानरूप अन्तर के वासी,

पग पग पर देते प्रकाश, जैसे किरणें दिनकर कीं।

आरती करूं गुरुवर की॥

जब से शरण तुम्हारी आए, अमृत से मीठे फल पाए,

शरण तुम्हारी क्या है छाया, कल्पवृक्ष तरुवर की।

आरती करूं गुरुवर की॥

ब्रह्मज्ञान के पूर्ण प्रकाशक, योगज्ञान के अटल प्रवर्तक।

जय गुरु चरण-सरोज मिटा दी, व्यथा हमारे उर की।

आरती करूं गुरुवर की।

अंधकार से हमें निकाला, दिखलाया है अमर उजाला,

कब से जाने छान रहे थे, खाक सुनो दर-दर की।

आरती करूं गुरुवर की॥

संशय मिटा विवेक कराया, भवसागर से पार लंघाया,

अमर प्रदीप जलाकर कर दी, निशा दूर इस तन की।

आरती करूं गुरुवर की॥

भेदों बीच अभेद बताया, आवागमन विमुक्त कराया,

धन्य हुए हम पाकर धारा, ब्रह्मज्ञान निर्झर की।

आरती करूं गुरुवर की॥

करो कृपा सद्गुरु जग-तारन, सत्पथ-दर्शक भ्रांति-निवारण,

जय हो नित्य ज्योति दिखलाने वाले लीलाधर की।

आरती करूं गुरुवर की॥

आरती करूं सद्गुरु की

प्यारे गुरुवर की आरती, आरती करूं गुरुवर की।